गेंगटोक टूर पर पति को मीनू के अफेयर का पता चला था

मीनू और शशि के बीच चल रहे विवाहेत्तर संबंध की जानकारी इस साल जनवरी में मीनू के पति राजीव को मिली थी। राजीव ने बताया कि वे परिवार के साथ जनवरी में गंगटोक घूमने गये थे। वे एक होटल में रुके थे। मीनू बाथरूम में थी, तभी उसके मोबाइल में व्हाट्सएप पर शशि का मैसेज आया था जिसे उन्होंने पढ़ लिया। उसके व्हाट्सएप चैट का उन्होंने स्क्रीन शॉट भी ले लिया था। राजीव ने बताया कि मैसेज पढ़ने के बाद उन्होंने मीनू को समझाने की कोशिश की थी पर समझना तो दूर उसने अपने मोबाइल में फिंगर पासवर्ड डाल दिया जिससे कोई उसके मोबाइल को ओपेन नहीं कर सका। राजीव ने यह भी बताया कि बात को छिपाये रखने के लिए मीनू एक ही मोबाइल में दो नंबरों पर अलग-अलग व्हाट्सएप चलाती थी।

पिता ने कहा, मेरे लिए मर चुकी हो तुम

राजीव ने कहा कि मीनू का किसी अन्य व्यक्ति से अफेयर होने की बात जब उन्होंने उसके मायके वालों को बताया तो किसी को विश्वास नहीं हुआ। मीनू के पिता ने इसे झूठ कह दिया। उसके बाद राजीव ने मीनू और शशि के बीच हुई व्हाट्सएप कन्वर्सेशन का स्क्रीन शॉट भेजा तब उसके मायके वालों को विश्वास हुआ। राजीव का कहना है कि बेटी की ऐसी करतूत से पिता इतने मायूस हुए कि उन्होंने अपनी बेटी से उसी समय कह दिया कि वह उनके लिए मर चुकी है। मायके वालों ने मीनू से पूरी तरह से संबंध खत्म कर लेने की बात कह दी थी। इधर, ससुराल और उधर मायके से वालों की नाराजगी और दुत्कार मीनू बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी।

आत्महत्या के पहले कमरे के बाहर था मोबाइल

मीनू के पति राजीव ने बताया कि वह सुबह सैंडिस गये थे। साढ़े नौ बजे वे घूम कर आये। उसके बाद वे जीरोमाइल में किसी को पेमेंट देने चले गये। राजीव ने बताया कि वहीं पर उन्होंने अपनी स्कूटी को भी धुलवाया। उसके बाद वे लगभग एक बजे घर लौटे तो छोटे बेटे से मम्मी के बारे में पूछा तो उसने बताया कि मम्मी कमरे के अंदर है। राजीव ने कई बार आवाज लगायी पर दरवाजा नहीं खुला तो संदेह हुआ और खिड़की के ग्रिल में लगे सीसे को तोड़ देखा तो मीनू फंदे से लटक रही थी। उसके बाद कुछ लोगों को बुलाया और दरवाजा तोड़ अंदर घुसे और मीनू को फंदे से नीचे उतारा। उसके बाद पुलिस को कॉल किया। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि मीनू का मोबाइल कमरे से बाहर कैसे था। अगर वह पति के घर पर नहीं होने पर चैट किया करती थी तो मोबाइल उसके कमरे में होना चाहिए था। इस बात की आशंका जतायी जा रही है कि मंगलवार की सुबह शशि के साथ मीनू की चैटिंग करते देखने पर उससे मोबाइल ले लिया गया हो। इससे मीनू गुस्से में हो। पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है। बांका की मीनू से 2005 में हुई थी शादीराजीव मूल रूप से वैशाली के रहने वाले हैं। इशाक चक के अलावा घोघा में भी राजीव का अपना मकान है। 2005 में बांका के धोरैया के रहने वाले सतीश चंद्र सिंह की बेटी मीनू के साथ उनकी शादी हुई। राजीव का कहना है कि मीनू को उन्होंने कभी किसी तरह की कमी नहीं होने दी। उनके दो बेटे हुए और खुशी से पारिवारिक जीवन जी रहे थे पर शशि बीच में आया और ये सब कर दिया।पहचान छिपाने को फेसबुक पर नाम बदल दिया मीनू और शशि के बीच चल रहे अफेयर के बारे में मीनू के परिवार वालों को पता चला तो शशि को इस बात का एहसास होने लगा कि वह पकड़ा जा सकता है। उसके बाद उसने फेसबुक पर अपने प्रोफाइल में नाम बदल कर शशि से इंदुभूषण कर लिया। राजीव ने बताया कि वे शशि का फेसबुक एकाउंट चेक किया करते थे। मीनू के मोबाइल में उसका मैसेज पकड़े जाने के बाद ही शशि ने एफबी पर अपना नाम बदला।व्हाट्सएप स्टैटस भी बहुत कुछ बयां कर रहे मीनू और शशि के व्हाट्सएप के स्टैटस एकदम अलग दिखे हैं। स्टैटस बहुत कुछ बयां कर रहा। मीनू ने अपने व्हाट्सएप स्टैटस में महामृत्युंजय मंत्र लिख रखा था। उसने कोई प्रोफाइल पिक्चर नहीं लगाया था। वहीं शशि ने अपने व्हाट्सएप स्टैटस में शायरी लिखा हुआ है। शशि ने अपने व्हाट्सएप प्रोफाइल पिक्चर में अंग्रेजी में ‘हेट योर हेटर’ का पोस्टर लगा रखा है। इन दोनों के स्टैटस से समझा जा सकता है कि शशि मीनू पर तंज कस रहा है और मीनू जिंदगी से परेशान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: