लुट गया एसबीआई का एटीम,छुट्टी मनाते रहे अफसर

इशाकचक में शुक्रवार की रात एसबीआई का एटीएम लुट गया। उसे काटकर अपराधियों ने 25.88 लाख रुपये उड़ा लिये थे। लेकिन बैंक अफसर झांकने नहीं गए। इस घटना में बैंक के साथ-साथ एटीएम को संचालित करने वाली एजेंसी एनसीआर इंडिया कॉरपोरेशन प्राइवेट लिमिटेड के अधिकारियों की भारी लापरवाही उजागर हुई है। वे छुट्टी मनाते रहे। घटना के दूसरे दिन भी एफआईआर दर्ज नहीं हो पायी है।

 

इस इलाके में इस तरह की पहली घटना है लेकिन एसबीआई के अफसरों ने इस मामले में पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि एटीएम एनसीआर के हवाले है। इसलिए इस मामले में केस वही दर्ज कराएगी। वहीं एनसीआर के स्थानीय कोर्डिनेटर अभय सिंह ने कहा कि शनिवार और रविवार को छ़ुट्टी रहने के कारण पटना ऑफिस से एजेंसी के अधिकारी और वकील नहीं आ पाए। सोमवार को आकर केस दर्ज कराएंगे।

 

अंजान बने रहे एसबीआई के अफसर

 

एसबीआई के अफसर घटना पर कुछ बोलने को भी तैयार नहीं हैं। रविवार को क्षेत्रीय प्रबंधक बिनय कुमार से पूछने पर उन्होंने कहा कि वे अभी बाहर हैं। आने पर ही कुछ बता सकते हैं। शनिवार को उनका मोबाइल नहीं लग रहा था। एजीएम सुशील कुमार से माबाइल पर बात हुई। उन्होंने इस घटना की जानकारी नहीं थी। उन्होंने कहा कि यह आरएम का ऑपरेशनल एरिया है। वे उन्हें सूचित कर देंगे। रविवार को एसबीआई के मुख्य प्रबंधक संजीव श्रीवास्तव से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह उनका क्षेत्र नहीं है। यहां बता दें कि भागलपुर में इन अफसरों के अलावा डीजीएम और कुछ और अफसर बैठते हैं लेकिन कोई भी बड़ा अधिकारी इस घटना के बाद स्थल पर एटीएम का हाल जानने नहीं गया। एलडीएम चंद्रशेखर साह ने भी इसपर आश्चर्य जाहिर किया। उनका भी मानना है कि एटीएम का संचालन जो करे लेकिन नोट तो एसबीआई का ही है। ऐसे में अफसरों को घटना स्थल पर जरूर जाना चाहिए। यह एक गंभीर घटना है।

 

बैंक बंद है, सूचना मिली तो आ गए

 

शनिवार को एनएसीआर एजेंसी के प्रतिनिधियों के साथ छानबीन करने क्षेत्रीय कार्यालय के दो बैंककर्मी भी घटना स्थल पर पहुंचे थे। मौके पर मौजूद मीडियाकर्मयों ने उनसे पूछा तो उन्होंने कहा कि आज बैंक बंद है। घटना की सूचना मिली तो वे आ गए हैं। एक बैंकर्मी ने 25.88 लाख रुपए गायब होने की बात कही। उसके बाद उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार किया। उन्होंने अपना परिचय बताने से भी इंकार किया।

 

एसएसपी बोले शिकायत पर दर्ज होगा केस

 

इतनी बड़ी घटना में बैंक और एनसीआर के पदाधिकारियों के रवैये पर एसएसपी समेत सभी पुलिस अधिकारी हैरत में हैं। एसएसपी ने कहा कि अभी तक बैंक या एनसीआर की ओर से कोई लिखित शिकायत नहीं आई है। आएगी तो केस दर्ज होगा। फिलहाल पुलिस ने घटना की छानबीन शुरू कर दी है।

 

अफसरों को सक्रियता दिखानी चाहिए-एलडीएम

 

एसबीआई के अफसरों को कार्रवाई करवाने में सक्रियता दिखलानी चाहिए। एटीएम में गार्ड का नहीं होना भी आश्चर्य की बात है। गार्ड की तैनाती होनी चाहिए। यदि एटीम एनसीआर के हवाले है तब भी बैंक अफसरों को चाहिए था कि उससे कोर्डिनेट करके इसमें केस कारवाए। सोमवार को बैंक खुलने पर एसबीआई से बात करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: